ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
राजस्थान सरकार ने सभी यूट्यूब चैनल और वेबसाइटों को बंद कर दिया है अब केवल आर एन आई के तहत पंजीकृत होने पर ही चला सकेंगे
May 9, 2020 • जनस्वामी दर्पण

राजस्थान सरकार की बड़ी कार्रवाई  राजस्थान सरकार ने सभी यूट्यूब चैनल और वेबसाइटों को बंद कर दिया है सरकार ने सभी वेबसाइट और यूट्यूब चैनलों को माना अवैध आप केवल सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय  यानी आर एन आई के तहत पंजीकृत होने पर ही चला सकेंगे बाकी सभी को बंद करना होगा

राजस्थान सरकार ने कहा कि वर्तमान में संपूर्ण देश में  कोरोना संक्रमण के गंभीर दौर से गुजर रहा है तथा चिकित्सा कर्मी आशा सहयोगिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अध्यापक व समाज प्रशासनिक मशीनरी को रोना योद्धा के रूप में कोरोना संक्रमण के विरुद्ध श्याम के जान जोखिम में डालकर लड़ाई लड़ रहे हैं ताकि आम जनता के जीवन की सुरक्षा की जा सके इस दौरान यह देखने में आया गया है कि सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म तथा यूट्यूब फेसबुक इंस्टाग्राम व्हाट्सएप  टि्वटर टेलीग्राम व अन्य पर प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से कतिपय व्यक्तियों के द्वारा न्यूज़ चैनलों के रूप में संचालित किया जा रहा है तथा एंकरिंग करते हुए न्यूज़ चैनल के समाचार का प्रकाशन एवं संप्रेषण किया जा रहा है तथा इंटरव्यू  लेते हुए समाचारों का प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से प्रस्तुतीकरण किया जा रहा है  उक्त समस्त कार्य निश्चित रूप से journalistic  Activty   के रूप में आता है तथा उक्त व्यक्तियों के द्वारा सोशल मीडिया के उक्त प्लेटफार्म बताता यूट्यूब  फेसबुक इंस्टाग्राम व्हाट्सएप टि्वटर टेलीग्राम व अन्य का प्रसारण करते हुए पत्रकारिता के कार्य का संचालन एवं जनसंपर्क निदेशालय राज सरकार जयपुर व सूचना प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार से किसी भी प्रकार की अनुमति लिए बिना ही किया जा रहा है और इसके द्वारा स्वयं को इस कार्य के लिए उप संस्थानों में पंजीबद्ध नहीं कराया गया है इस प्रकार के Code of Conduct   के दायरे में नहीं आ रहे हैं  उनके द्वारा भ्रामक वघेर सत्यापित तत्वों के आधार पर  समाचारों का प्रकाशन इरादतन या गैर इरादतन किया जाना संभव है राजस्थान सरकार ने यहां निर्णय कोरोना के मनोबल पर विपरीत प्रभाव एवं आमजन के मस्तिष्क  मैं कई भ्रांतियां एवं आज संकाय पैदा होना संभावित है  इस कारण राजस्थान सरकार ने यह निर्णय लिया है कि  आर एन आई (rni )  से पंजीकृत होने पर ही    वैध माना जाएगा