ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
मध्यप्रदेश /भोपाल यदि आप कोई भी प्रॉपर्टी खरीद रहे हैं तो उसकी जानकारी आपको पंजीयन विभाग की साइट पर उपलब्ध होगी
November 5, 2019 • विशेष संवाददाता

मध्यप्रदेश/ भोपाल यदि आप को भी प्रॉपर्टी खरीदने वाले हैं तो पहले उसकी जांच जरूर करें ये सारी जानकारियां आपको पंजीयन विभाग की साइट पर उपलब्ध होगी

ग्राहकों को ठगी से बचाएगी पंजीयन की वेबसाइट

भोपाल. यदि आप फ्लेट, ड्यूप्लेक्स और प्लॉट की रजिस्ट्री कराने जा रहे है तो इससे पहले अब प्रोजेक्ट से •ाुड़ी अहम जानकारी जरूर एकत्र कर लें। ये सारी जानकारियां पंजीयन विभाग की साइट पर उपलब्ध हैं। विभाग ने अपनी साइट पर ई स्टाम्प, कृषि भूमि नामांतरण की जांच के साथ रेरा में रजिस्टर्ड प्रोजेक्ट की सूची उपलब्ध कराई है। ये सूची लगातार अपडेट भी हो रही है। साइट पर उपलब्ध जानकारी में टाउन एंड कंट्री प्लानिंग का एप्रूवल है या नहीं। बिल्डिंग परमिशन, जमीन का मालिक कौन है, डवलपमेंट टीम में कौन-कौन शामिल है, खसरे की जानकारी, प्लॉट का लेआउट ऐरिया क्या है, प्रोजेक्ट का स्टेटस और यहां तक की उसे बनाने वाले इंजीनियर का सर्टिफिकेट है या नहीं। इसकी जानकारी दी गई है। इतनी जानकारी के बाद फर्जीवाड़े की आशंका शून्य हा जाती है।

दूसरी विंडो में कृषि भूमि के नामांतरण संबंधी जानकारी दी गई है। जमीन किसके नाम पर है। रजिस्ट्री में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए अभी तक सिर्फ भू सम्पदा की लिंक के माध्यम से ये पता लगा सकते थे कि जमीन का मालिक कौन है। इस साइट पर आप खुद भी देख सकते हैं। सिर्फ पंजीयन की साइट एमपीआईजीआर.जीओवी.इन पर जाकर साइट खोलनी होगी। हाल ही में इसमें राजधानी के साथ प्रदेश के अन्य जिलों के प्रोजेक्ट को अपडेट किया गया है। भोपाल मेंं ही प्रतिदिन 200 से ज्यादा रजिस्ट्री होती हैं। जिसमें कुछ ही लोग इस साइट पर जाकर जानकारी लेते हैं। अगर ज्यादा लोग इस साइट से जानकारी करें तो रजिस्ट्री में फर्जीवाड़े से बच सकते हैं। गौरतलब है कि लंबे समय से लोग जानकारी के अभाव में ठगी का शिकार होते आए हैं जिसे ध्यान में रख कर ये प्रक्रिया शुरू की गई है।

रेरा की तरफ से पंजीयन की साइट पर प्रोजेक्ट की जानकारी उपलब्ध कराई गई है। प्रोजेक्ट की पूरी जानकारी दी है। आम आदमी भी इसकी जांच कर सकता है।
स्वप्नेश शर्मा, जिला पंजीयक व प्रभारी सम्पदा