ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक लाइफ स्टाइल योग व्यायाम आसान ताजा न्यूज़ खान पान कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
मध्य प्रदेश में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा इंदौर पहुंचे, प्रशासन ने हटवाया स्वागत मंच
December 22, 2019 • जनस्वामी दर्पण • प्रदेश न्यूज

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा इंदौर पहुंचे, प्रशासन ने हटवाया स्वागत मंच                                                                

                  इंदौर। भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नडा (BJP executive president JP Nadda) रविवार सुबह इंदौर पहुंचे। यहां उन्होंने शुभकारज गार्डन में आयोजित कार्यक्रम में उन लोगों को संबोधित किया, जिन्हें देश की नागरिकता मिल चुकी है या मिलने वाली है। जेपी नड्डा ने बताया कि किसी तरह लोगों को नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भ्रमित किया जा रहा है। इस दौरान कार्यक्रम में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, कैलाश विजयवर्गीय और सांसद शंकर लालवानी भी उपस्थित रहे।                                                                                      इससे पहले प्रशासन ने बड़ा गणपति चौराहे पर उनके स्वागत की लिए लगाया गया स्वागत मंच और लाउड स्पीकर भी हटवा दिए। नगर भाजपा ने उनकी रैली के लिए अनुमति मांगी थी, लेकिन नागरिकता कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर प्रशासन ने अनुमति नहीं दी। इसके बाद तय हुआ कि भाजपा कार्यकर्ता एयरपोर्ट से राजीव गांधी प्रतिमा चौराहे तक मार्ग में जगह-जगह उनका स्वागत करेंगे। इसके बाद भाजपा द्वारा दिए गए रूट पर भी प्रशासन ने फेरबदल करवा दियाइसके बाद रूट को जवाहर मार्ग के बजाय बड़ा गणपति, गंगवाल बस स्टैंड चौराहा, केसरबाग ब्रिज होते हुए शुभकारज गार्डन किया गया।                                                                                                                      भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार इंदौर आए जेपी नडा के स्वागत के लिए भाजपा ने भव्य रैली की योजना तैयार की थी, लेकिन दो दिन से रैली की अनुमति पर संशय था। प्रशासन तय रूट पर अनुमति देने के लिए राजी नहीं था और काफिले के लिए भी वैकल्पिक रूट सुझाया गया था। बाद में भाजपा नेता रूट बदलने को सहमत हुए और जवाहर मार्ग के बजाए आयोजन स्थल तक जाने के लिए बड़ा गणपति, महूनाका वाला रूट चुना