ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
मध्य प्रदेश / इंदौर के एक युवक ने अपने बढ़ते कर्ज से परेशान होकर खुद के अपहरण की साजिश रची
October 21, 2019 • विशेष संवाददाता

"  इंदौर 20 अक्टूबर इंदौर के एक युवक ने अपने बढ़ते कर्ज से परेशान होकर खुद के अपहरण की साजिश रच पत्नी और साले से रुपए एंठने की योजना बनाई।                                              "  इंदौर 20 अक्टूबर इंदौर के एक युवक ने अपने बढ़ते कर्ज से परेशान होकर खुद के अपहरण की साजिश रच पत्नी और साले से रुपए एंठने की योजना बनाई। उसने खुद के हाथ-पांव बंधे फोटो भेज पत्नी से रुपए की व्यवस्था करने को कहा। पत्नी ने यह बात पुलिस को बताई। पुलिस पत्नी की शिकायत पर सक्रिय को जब जांच में जुटी और युवक को जयपुर से बरामद किया तो इस फर्जी मामले का खुलासा हुआ।                                                                                                    पुलिस के अनुसार खजराना थाना क्षेत्र के न्यू हरसिद्धि कॉलोनी में रहने वाली भारती चौधरी ने 11 अक्टूबर को थाने में अपने पति मनोज पिता कुंवरपाल सिंह चौधरी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। महिला ने पुलिस को बताया था कि 10 अक्टूबर की दोपहर को मनोज किराने का सामान लाने का बोलकर घर से निकला था उसके बाद से वह लापता हो गया है।                                                                                                        पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर जांच प्रारंभ की। 13 अक्टूबर को भारती ने पुलिस को बताया कि उप्र के गाजियाबाद में रहने वाली उसकी भाभी रीना चौधरी के मोबाइल पर उसके पति मनोज के व्हाट्सएप से मैसेज आया है, जिसमें पति के हाथ-मुंह बंधे हुए फोटो है                                     भारती के पास एंड्राइड मोबाइल ना होने से उसने पड़ोसी रवि के मोबाइल पर वह फोटो मंगाया। इसके बाद मनोज द्वारा अपने ही नंबर से पत्नी भारती को फोन कर बोला कि उसे किडनैप कर लिया है। किडनेपर 4 लाख रुपए मांग रहे हैं।                                                           मनोज ने पत्नी से कहा कि वह अपने भाई से बोल कर उसके अकाउंट में पैसा जमा करवा दें नहीं तो किडनेपर पर उसे मार देंगे। इस पर पुलिस ने मनोज का अपरहरण का केस दर्ज कर जांच प्रारंभ की                                                                                                                            इस दौरान आरोपी पति स्वयं अपने मोबाइल के व्हाट्सएप मैसेज के माध्यम से अलग अलग समय परिवारजनों के मोबाइल पर मैसेज करता रहा। वह कभी स्वयं का मुंह बंधा हुआ, कभी सर पर पट्टी बंधी हुई, कभी जमीन पर पड़ा तथा कपड़े में लिप्त हुए फोटो मैसेज करता था। आरोपी अपनी पत्नी के मोबाइल पर फोन कर पैसा जल्दी डलवाने के साथ ही यह भी कहता था कि किडनेपर बहुत खतरनाक है और उसके साथ मारपीट कर रहे है। यदि जल्द पैसा नही डाला तो वह उसे मार देंगे।                                                                                                                      मामले की जांच में पुलिस को यह पता चला की मनोज के एटीएम से दिल्ली, मथुरा व जयपुर के एटीएम से पैसा निकाला गया है। पुलिस ने सभी कड़ियों को जोड़ाइसी बीच पुलिस को सूचना मिली की मनोज राजस्थान के जयपुर में है। इस पर पुलिस ने जयपुर पहुंचकर एक होटल से मनोज को बरामद किया।                                                                                                                                                                    मनोज ने पूछताछ में बताया कि उसकी चित्रा नगर में किराए की मोबाइल शॉप है, जिसमें वह एमपी ऑनलाइन का काम करता है तथा मोबाइल फाइनेंस कर बेचता है। उस दुकान के पास में ही उसकी किराने की दुकान भी है जिस पर उसकी पत्नी बैठती है                                                                                                                                      उसके सिर पर 25लाख रुपए से अधिक का कर्जा हो गया था, उससे कर्जाधारी लोग पैसा मांग रहे थे, कर्जाधारियों से परेशान हो गया था। उसे कुछ न सूझा तो उसने खुद के अपहरण की कहानी रच थी लेकिन वह कामयाब नहीं हो सका। साभार