ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
इंदौर कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने घोषित किए पांच नए कंटेनमेंट एरिया
May 12, 2020 • जनस्वामी दर्पण • प्रदेश न्यूज

इंदौर। कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने घोषित किए पांच नए कंटेनमेंट एरिया

इंदौर। कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने शास्त्री कॉलोनी, छोटा बांगड़दा, वाल्मीकि नगर, बाणगंगा एवं नंदलालपुरा क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया है। ये कंटेनमेंट क्षेत्र, कोविड पॉजिटिव पाए गए प्रकरणों के आधार पर घोषित किए गए है।

LI शास्त्री कॉलोनी एवं छोटा बांगड़दा कंटेनमेंट एरिया के लिए अपर कलेक्टर श्री दिनेश जैन,वाल्मीकि नगर एवं बाणगंगा के लिए अपर कलेक्टर श्री अभय बेडेकर तथा नंदलालपुरा के लिए अपर कलेक्टर श्री पवन जैन को इंसिडेंट कमांडर नियुक्त किया गया है।

उल्लेखनीय है कि शहर में कोविड-19 से संक्रमित प्रकरणों से संबंधित क्षेत्रों में शास्त्री कॉलोनी, वाल्मीकि नगर, गोविंद नगर बाणगंगा, नंदलालपुरा आड़ा बाजार स्मृति नगर, छोटा बांगड़दा, माणिक बाग रोड, गोपाल बाग,अशोका कॉलोनी, वल्लभनगर, पाटनीपुरा, नेहरू नगर, स्कीम नंबर 94 सांवरिया नगर, कमला नेहरू नगर इमली बाजार, पीर गली, विनोबा नगर, श्रीनाथ विहार, ब्लॉक डीआरपी लाइन, शाहीबाग खजराना, गोया रोड सजराना, ग्रीज पार्क कॉलोनी, जगजीवन राम नगर, मल्हारबांज, खातीवाला टैंक, परदेसीपुरा और महालक्ष्मी नागर शामिल हैं। 

 कोरोना वायरस की रोकथाम के उद्देश्य हेतु कंटेनमेंट एरिया के अंतर्गत आवागमन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दवारा विशेष रैपिड रिस्पांस टीम तथा मेडिकल मोबाइल यूनिट का गठन किया जाएगा। इन क्षेत्रों में फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ता, एएनएम, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं एमपीडब्ल्यू-टीवी एचव्ही सुपरवाइजर टीमवाइज प्रतिदिन 50 घरों का भ्रमण कर निर्धारित प्रोफार्मा में जानकारी लेंगी।

उक्त क्षेत्रों में सभी कोविड-19 सस्पेक्टेड केसेज़ की प्रतिदिन मॉनिटरिंग की जाएगी। कोरोना संक्रमित व्यक्ति के परिजन एवं निकट संपर्क को क्वॉरेंटाइन कराना अति आवश्यक हैजिससे संक्रमण को समुदाय में फैलने से रोका जा सके। इस प्रकार जिन्हें क्वॉरेटाइन किया जाए जाता है.उनका प्रतिदिन फॉलोअप लेना आवश्यक है। यह प्रक्रिया तब तक चलती है. जब तक कि सस्पेक्टेड केस का रिजल्ट नेगेटिव ना आ जाए और यदि रिजल्ट पॉजिटिव आता है तो इस स्थिति में संबंधित के दू कांटेक्ट को 14 दिन तक होम क्वॉरेंटाइन में रखना आवश्यक है, जिसका 28 दिन तक प्रतिदिन फॉलो लिया जाता है।