ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
भारत में 415 पहुंचा कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या आकड़ा अब तक 7 लोगों ने गंवाई जान
March 23, 2020 • आउटलुक ...sa.. • ताजा न्यूज़

भारत में 415 पहुंचा कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा, अब तक सात लोगों ने गंवाई जान

आउटलुक टीम - sa..

 
 
भारत में 360 पहुंचा कोरोना वायरस के मरीजों का आंकड़ा, अब तक सात लोगों ने गंवाई जान

देशभर में कोरोना वायरस के मामलों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, मरीजों की संख्या 415 के करीब पहुंच गई है। जिनमें से 374 मरीज भारतीय हैं जबकि 41 विदेशी नागरिक हैं। इसके कारण देश भर में अब तक सात लोगों की मौत हुई है और 24 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। अकेले 24 घंटे में 50 से अधिक नए मरीज आए हैं और तीन मौतें हुई हैं। दिल्ली, राजस्थान, बिहार, पंजाब, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश में कोरोना वायरस की वजह से 31 मार्च तक लॉकडाउन है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 16 जिलों को भी 25 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है।

चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान से पैर पसारने वाले जानलेवा कोरोना वायरस की चपेट में अब तक विश्व के 150 से अधिक देश आ चुके हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच इसे वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है।

रविवार को भी हुई मौतें

रविवार को गुजरात के सूरत में 67 साल के मरीज की सांसें कोरोना की छीन ली। सबसे चौंकाना वाला मामला पटना से आया, जहां 38 साल के मरीज की जान चली गई। मृतक सऊदी अरब में ट्रक चलाता था, वो मुंगरे जिले का रहने वाला था। कोरोना से अब तक जिन सात लोगों की जान गई है। उन सब की उम्र 60 के पार थी, लेकिन पटना में 38 साल के मरीज की मौत ने चिंता बढ़ा दी है।

35 हजार लोगों पर नजर

कोरोना को बढ़ने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली में ऐसे 35 हजार लोगों की पहचान की गई है, जो 1 मार्च को 2020 के बाद विदेश लौटे हैं और दिल्ली में रह रहे हैं। इन सबका 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन में रहना सुनिश्चित किया जाएगा। इन लोगों के संपर्क में भी जो लोग आए, उन्हें भी 14 दिन तक घर में रहना होगा।

ये हैं राज्यवार आंकड़े

देश में कोरोना मरीजों की संख्या 360 के करीब पहुंच गई है, जिसमें 24  मरीज ठीक हो चुके हैं। कोरोना की चपेट में आकर 7 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। आंध्र प्रदेश में 1, बिहार में 3, छत्तीसगढ़ में एक, चंडीगढ़ में 6, दिल्ली में 26, गुजरात में 18, हरियाणा में 23, हिमाचल प्रदेश में 2, जम्मू-कश्मीर में 4, कर्नाटक में 26, केरल में 67, लद्दाख में 13, मध्य प्रदेश में 6, महाराष्ट्र में 74, ओडिशा में 2, पुदुचेरी में 1, पंजाब में 13, राजस्थान में 25, तमिलनाडु में 7, तेलंगाना में 27, उत्तर प्रदेश में 29, उत्तराखंड में 4 और पश्चिम बंगाल में 7 केस सामने आए हैं।

दिल्ली में 31 मार्च धारा 144 लागू

कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर दिल्ली में 22 मार्च रात 9 बजे से 31 मार्च रात 12 बजे तक सीआरपीसी  की धारा 144 लागू रहेगी।

कोरोना वायरस को रोकने का आसान तरीका

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सबसे आसान तरीका बाहर से आने वाले लोगों को अलग रखना है। उन्हें अलग (क्वारंटाइन) में रखा जाना चाहिए। ये वायरस हवा से नहीं फैलता है। उन्होंने कहा कि हमने अब तक कोरोना वायरस के लिए 15,000-17,000 टेस्ट किए हैं। हमारे पास प्रति दिन 10,000 टेस्ट करने की क्षमता है, इसका मतलब है कि हम प्रति सप्ताह 50,000-70,000 टेस्ट कर सकते हैं।

उत्तराखंड में 31 मार्च तक लॉकडाउन

उत्तराखंड CM त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य के मुख्य सचिव, गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ राष्ट्रव्यापी जनता कर्फ्यू के बाद जो आज  देखा गया। हमने 31 मार्च तक पूरे राज्य में कर्फ्यू जारी रखने का फैसला किया है। हालांकि, आवश्यक सेवाएं, जैसे कि भोजन और दवाएं, सभी के लिए उपलब्ध होंगी। हमने तय किया है कि अंतर-शहर और अंतर-राज्य बस सेवाएं 31 मार्च तक निलंबित रहेंगी। लोगों को लॉकडाउन के दौरान न्यूनतम यात्रा करनी चाहिए, उन्हें उस शहर या गांव से नहीं भागना चाहिए जहां वे वर्तमान में अन्य स्थानों पर रह रहे हैं।

महाराष्ट्र कल सुबह तक जनता कर्फ्यू

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं हर किसी से अनुरोध करना चाहूंगा कि कल सुबह तक जनता कर्फ्यू जारी रखें। कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। मेरे पास महाराष्ट्र में धारा 144 लागू करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। भारत के बाहर किसी भी फ्लाइट को मुंबई में नहीं उतरने दिया जाएगा। सरकारी कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों का प्रतिशत 25 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दिया गया है। 31 मार्च तक केवल आवश्यक कार्यों के लिए सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी। सीएम ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस ने एक बहुत ही संवेदनशील और महत्वपूर्ण चरण में प्रवेश किया है, इसलिए मैं लोगों से इस वायरस के खिलाफ लड़ाई में सभी सावधानी बरतने का आग्रह करता हूं।

देश भर के 75 जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि

कैबिनेट सचिव ने आज राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा की। जिन 75 जिलों में कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि हुई है उनमें सिर्फ जरूरी सेवाओं की अनुमति जी जाएगी। 31 मार्च तक के लिए अंतर-राज्य बस सेवाएं भी निलंबित। 

चंडीगढ़ प्रशासन ने कहा, '31 मार्च तक सभी गैर-आवश्यक प्रतिष्ठान कार्यालय, स्कूल, कॉलेज, कारखाने और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान आदि बंद रहेंगे। सभी सार्वजनिक परिवहन निलंबित रहेंगे। आवश्यक सेवाएं सब्जी की दुकानों, राशन की दुकानों, मेडिकल खुले रहेंगे।' मुंबई में पश्चिम रेलवे की उपनगरीय सेवाओं पर आज आधी रात से 31 मार्च की मध्यरात्रि तक लगाई गई रोक

पंजाब में कुल 21 मामले

पंजाब में कोरोना वायरस के 7 मामले और सामने आने से कुल केस 21 हो गए हैं। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बीएस सिद्धू ने कहा, 'राज्य में लॉकडाउन के दौरान सभी आवश्यक वस्तुओं की नियमित आपूर्ति होगी। मैं सभी नागरिकों से इस वायरस से लड़ने के लिए सरकार की सलाह का पालन करने की अपील करता हूं।'

डीजीसीए ने कहा दिल्ली में जारी रहेंगी उड़ानें

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने स्पष्ट किया है कि दिल्ली एयरपोर्ट से संचालित होने वाली घरेलू उड़ानें जारी रहेंगी। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि लॉकडाउन के दौरान कोई भी विमान दिल्ली में प्रवेश नहीं करेगा, लेकिन डीजीसीए ने यह स्पष्ट कर दिया है कि देश के अंदर दिल्ली एयरपोर्ट से संचालित होने वाली घरेलू उड़ानें नियमित रूप से जारी रहेंगी और एयरपोर्ट काम करता रहेगा।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के लिए अलग व्यवस्था

कोरोनवायरस के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट की दो अदालतें सोमवार को वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए काम करेंगी। न्यायाधीश अपने संबंधित न्यायालयों में बैठेंगे, जबकि वकील अपने मामलों को अदालत में नहीं बल्कि एक अलग स्थान से बहस करेंगे।

सभी सीमाएं सील

दिल्ली सरकार ने भी लॉकडाउन करने का फैसला किया है। सभी सात जिलों में लॉकडाउन कर दिया गया है। इसके अलावा सोमवार सुबह छह बजे से दिल्ली की सभी सीमाएं सील कर दी जाएंगी। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान सभी निजी कार्यालय भी बंद रहेंगे, लेकिन स्थाई और संविदात्मक दोनों कर्मचारियों को ऑन-ड्यूटी माना जाएगा। कंपनियों को इस अवधि के लिए अपने कर्मचारियों को वेतन देना होगा। केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान किसी आवश्यक सेवा प्रदान करने या लाभ उठाने के लिए किसी व्यक्ति से कोई दस्तावेज या सबूत नहीं मांगा जाएगा।