ALL राजनीति स्पोर्ट्स आरएसएस न्यूज धार्मिक कोरोना वायरस योग व्यायाम आसान / लाइफ स्टाइल / खान पान ताजा न्यूज़ देश - विदेश कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज
औरंगाबाद हादसे में मृत श्रमिकों के शव उनके गृह ग्राम लाये जा रहे हैं
May 8, 2020 • jansampark m.p • प्रदेश न्यूज

औरंगाबाद हादसे में मृत श्रमिकों के शव उनके गृह ग्राम लाये जा रहे हैं श्रमिकों के शव लाने की ट्रेन की व्यवस्था करवाई है।

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने औरंगाबाद में हुए हृदय विदारक ट्रेन हादसे में मध्यप्रदेश के मत 16 श्रमिकों के शव मध्यप्रदेश लाने के संबंध में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और रेल मंत्री से बात कर ट्रेन की व्यवस्था करवाई है। मृत श्रमिकों के शव ट्रेन से जबलपुर लाये जा रहे हैं। जबलपुर से इनके शव उनके गृह स्थान भेजे जायेंगे। ट्रेन औरंगाबाद (महाराष्ट्र) से 8 मई को शाम 7 बजे रवाना हो रही है

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने औरंगाबाद पहुँचे राज्य सरकार के दल से टेलीफोन पर चर्चा कर ट्रेन दुर्घटना में घायल हुए श्रमिकों के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने घायल व्यक्तियों की सहायता के लिये एक-एक लाख रूपये देने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री दुर्घटना में दिवंगत श्रमिकों के परिजनों को 5-5 लाख रूपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश पहले ही दे चुके हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि इस दुःखद घड़ी में शोकाकुल परिवार स्वयं को अकेला नहीं समझे, मैं और मेरी पूरी सरकार आपके साथ खड़ी है।

औरंगाबाद दुर्घटना में मृत श्रमिकों के नाम

1. श्री धन सिंह गोंड़ जिला शहडोल 2. श्री निरवेश सिंह गोंड़ जिला शहडोल 3. बुद्धराज सिंह गोंड़ जिला शहडोल 4. श्री अच्छे लाल सिंह जिला उमरिया 5. श्री रबेन्द्र सिंह गोंड़ जिला शहडोल 6. श्री सुरेश सिंह कोल जिला शहडोल 7. श्री राजबोहरम पारस सिंह जिला शहडोल 8. श्री धर्मेन्द्र सिंह गोंड़ जिला शहडोल 9. श्री बिगेंद्र सिंह चैन सिंह जिला उमरिया 10. श्री प्रदीप सिंह गोंड़ जिला उमरिया 11. श्री सन्तोष नापित 12. श्री बृजेश भईयादीन जिला शहडोल 13. श्री मुनीम सिंह शिवरतन सिंह जिला उमरिया 14. श्री दयाल सिंह जिला शहडोल 15. श्री नेमशाह सिंह जिला उमरिया 16. श्री दीपक सिंह अशोक सिंह गोंड़ जिला शहडोल।

हादसे में श्री सज्जन सिंह माखन सिंह धुर्वे जिला मंडला घायल हए हैं। हादसे में श्री इंद्रलाल कमल सिंह धुर्वे जिला मंडला, श्री वीरेन्द्र सिंह चेन सिंह गौर जिला उमरिया और शिवमानसिंह हिरालाल गौर जिला शहडोल सुरक्षित रहे।