ALL राजनीति आरएसएस न्यूज स्पोर्ट्स धार्मिक ताजा न्यूज़ कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज खान पान लाइफ स्टाइल योग व्यायाम आसान
पंजाब के मुख्य मंत्री ने केंद्र सरकार से जांच के लिए मदद मांगी आतंकवाद फैलाने को पाक में पंजाब में ड्रोन से से हथियार गिराएकैप्टन में जांच के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगी
September 25, 2019 • विशेष संवाददाता

आतंकवाद फैलाने को पाक ने पंजाब में ड्रोन से हथियार गिराए, कैप्टन ने जांच के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगी

पाकिस्तान के ड्रोन से पंजाब में हथियार गिराने की हाल की घटना के बाद पंजाब की राज्य सरकार हरकत में आ गई है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमनिंदर सिंह ने पूरी घटना की जांच के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगी है।

अमित शाह से कदम उठाने का अनुरोध

मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके जानकारी दी कि पाकिस्तान के ड्रोनों से हाल में हथियारों की खेपें गिराए जाने की हाल की घटनाएं नई और गंभीर चिंता की बात है। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने पैतरा बदलकर इस तरह से गड़बड़ी फैलाने की कोशिश की है। ट्वीट में उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से अनुरोध किया है कि ड्रोन की इस समस्या से निपटने के लिए जल्द से जल्द कदम उठाए जाएं।

पुलिस ने हथियार बरामद किए

दो दिन पहले आतंकवाद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दोबारा पाकिस्तान की मदद से सक्रिय हुए खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (केजेडएफ) के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। जर्मनी स्थित स्थित यह आतंकी गुट पंजाब और आसपास के राज्यों में आतंकी हमले करने की तैयारी कर रहा था। पुलिस ने रविवार को बताया कि उसने पाकिस्तान की सीमा से लगे तरनतारन जिले में छापा मारकर पांच एके 47 राइफल, पिस्तौल, सैटेलाइट फोन और हैंड ग्रेनेड सहित हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद किया।

केस एनआइए को सौंपने का फैसला

इस मामले का अंतरराष्ट्रीय संबंध होने और बड़ी साजिश होने के कारण मुख्यमंत्री ने मामले की जांच नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) से कराने के लिए उसे सौंपने का फैसला किया ताकि पूरी जांच जल्दी हो सके और साजिश सामने आ सके। शुरुआती जांच से पता चला है कि सीमा पार से हथियार और संचार उपकरण भेजने के लिए ड्रोनों का इस्तेमाल किया गया। मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से अनुरोध किया है कि पंजाब में समा पर ड्रोन की गतिविधियों को रोकने और एहतियाती कदम उठाने के लिए भारतीय वायु सेना और सीमा सुरक्षा बल को आवश्यक निर्देश दिए जाएं।

ड्रोन के जरिये गिराए हथियार

राज्य के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता ने संवाददाताओं को बताया कि  सीमा पार से पाकिस्तानी सेना द्वारा ड्रोनों का इस्तेमाल करके हथियार भेजे जाने की आशंका है। इस साजिश में पाक खुफिया एजेंसी आइएसआइ, जिहादी संगठन और खालिस्तान समर्थन आतंकी गुट शामिल हो सकते हैं। कश्मीर घाटी के हाल के घटनाक्रम के बाद हो सकता है कि पाकिस्तान जम्मू कश्मीर, पंजाब और दूसरे राज्यों में आतंकवाद को बढ़ावा के लिए बड़े पैमाने पर घुसपैठ कराने का प्रयास करे।