ALL राजनीति आरएसएस न्यूज स्पोर्ट्स धार्मिक ताजा न्यूज़ कहानी ,कविता ,महापुरुषों की जीवनियां प्रदेश न्यूज खान पान लाइफ स्टाइल योग व्यायाम आसान
इंदौर नगर निगम की बड़ी कार्रवाई स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की राह में आ रहे मकानों को तोड़ा गया
August 29, 2019 • विशेष संवाददाता
इंदौर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की राह में आ रहे मकानों के 
 
स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smart City Project) के तहत सड़क चौड़ीकरण के लिए मकानों को हटाने की कार्रवाई इंदौर नगर निगम (Indore Municipal Corporation) ने आज शुरू कर दी. पोकलेन और जेसीबी मशीनों की मदद से आज करीब 50 मकानों के खिलाफ कार्रवाई की गई. इन मकानों में इंदौर सांसद शंकर लालवानी (Indore MP Shankar Lalwani) का पुराना मकान भी था. अतिक्रमण (Encroachment) में आ रहे उनके मकान के कुछ हिस्सों को गिरा दिया गया.  हालांकि निगम को इस कार्रवाई में कुछ जगहों पर विरोध का भी सामना करना पड़ा.

60 फीट चौड़ी रोड बनाने कार्रवाई
इंदौर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत बनने वाली दूसरी स्मार्ट रोड के लिए नगर निगम ने आज बाधक निर्माण को हटाने की कार्रवाई शुरू की, जिसके तहत निगम ने आज 6 पोकलेन और 4 जेसीबी की मदद से लगभग 50 मकानों पर बुलडोजर चलाए. दरअसल स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत इंदौर में गोराकुंड से जयरामपुर चौराहे के बीच शहर की दूसरी स्मार्ट रोड बनना प्रस्तावित है, 60 फीट चौड़ी बनने वाली इस रोड के निर्माण में सैकड़ों मकान तोड़े गए 



कुछ लोगों ने कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया 
नगर निगम ने सभी रहवासियों को नोटिस देकर अपने-अपने बाधक निर्माण तोड़ने की समझाइश दी थी. कुछ लोगों ने स्वतः ही अपने निर्माणों को तोड़ना शुरू कर दिया था. वहीं कुछ लोग इस मामले को लेकर कोर्ट चले गए थे. अब जिन मकानों के मामले न्यायालय में लंबित हैं, उन्हें छोड़कर नगर निगम ने आज बाकी मकानों पर रिमूवल की कार्रवाई शुरू कर दी है. निगम के दस्ते ने आज सांसद शंकर लालवानी के पुराने मकान के अतिक्रमण वाले हिस्से को भी हटा दिया.
 

 


50 मकानों पर कार्रवाई की गई 
नगर निगम उपायुक्त महेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि निगम की यह कार्रवाई जयरामपुर कॉलोनी से शुरू हुई, जहां शुरुआती दौर में निगम ने 50 मकानों कि बाधक निर्माणों को तोड़ने की कार्रवाई की, इस दौरान नगर निगम और पुलिस के आला अधिकारियों के साथ ही बड़ी संख्या में नगर निगम और पुलिस का बल मौके पर मौजूद रहा. वहीं कुछ रहवासियों द्वारा नोटिस ना देने और एकाएक कार्रवाई करने को लेकर विरोध भी दर्ज कराया गया. लेकिन बावजूद उसके नगर निगम ने सभी विरोधों को दरकिनार कर इस कार्रवाई को अंजाम दिया.